स्विस संघीय सरकार की मुख्य विशेषता

B. A. II, Political Science II

प्रश्न 14. स्विस बहुल कार्यपालिका की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए। ।

अथवा "स्विट्जरलैण्ड की बहुल कार्यपालिका आधुनिक प्रजातन्त्र की एक अद्भुत संस्था है।" इस कथन की विवेचना कीजिए।

अथवा '' स्विस संघीय सरकार की मुख्य विशेषताओं का वर्णन कीजिए।

अथवा "स्विट्जरलैण्ड की संघीय सरकार विश्व में अपने ढंग की एक अनोखी कार्यपालिका है।" इस कथन का परीक्षण कीजिए।

उत्तर - बहुल कार्यपालिका का तात्पर्य कार्यपालिका के ऐसे प्रकार से है जिसके अन्तर्गत अन्तिम रूप में कार्यपालिका शक्ति किसी एक व्यक्ति में निहित न होकर व्यक्तियों के एक समुदाय में निहित होती है। वर्तमान समय में स्विट्जरलैण्ड बहुल कार्यपालिका का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है। स्विटजरलैण्ड में कार्यपालिका सत्ता 7 सदस्यों की एक संघीय सरकार में निवास करती है और यह संघीय सरकार सामूहिक रूप से राज्य की कार्यपालिका प्रधान के रूप में कार्य करती है। संघीय सरकार के सातों सदस्य की स्थिति व शक्तियाँ समान होती हैं। इसी आधार पर इसे बहुल कार्यपालिका कहा जाता है। स्विट्जरलैण्ड में बहुल कार्यपालिका लोकतन्त्रीय भावना को परिचायक है।

स्विस संघीय सरकार की मुख्य विशेषता

स्विस संघीय सरकार की विशेषताएँ

स्विस संघीय सरकार अथवा स्विस बहुल कार्यपालिका की प्रमुख विशेषताएँ निम्न प्रकार हैं

(1) बहुल कार्यपालिका

स्विट्जरलैण्ड की कार्यपालिका एक बहुल कार्यपालिका है। इसकी तुलना में ब्रिटेन, अमेरिका आदि देशों की कार्यपालिकाएँ एकल हैं। वहाँ कार्यपालिका सम्बन्धी अन्तिम उत्तरदायित्व एक ही व्यक्ति पर | अर्थात् प्रधानमन्त्री या राष्ट्रपति पर होता है। इसके अतिरिक्त एकल कार्यपालिका वाले देशों में मन्त्रिमण्डल के सदस्यों में से किसी एक की स्थिति अन्य की तुलना में अधिक महत्त्वपूर्ण होती है। किन्तु स्विस संघीय सरकार इन सबसे अनूठी है, क्योंकि यहाँ कार्यपालिका शक्ति किसी एक व्यक्ति में निहित न होकर सात व्यक्तियों के एक समूह में निहित होती है, जो सब समानपदी हैं। यहाँ तक कि संघीय सरकार का अध्यक्ष भी कोई विशेषाधिकार नहीं रखता।

(2) संसदात्मक और अध्यक्षात्मक शासन प्रणालियों का समन्वय-

स्विस कार्यपालिका का दूसरा अनूठा लक्षण यह है कि यह न तो संसदात्मक है और न अध्यक्षात्मक, वरन् इसमें दोनों पद्धतियों की विशेषताओं का सम्मिश्रण है। इसमें दोनों पद्धतियों के गुणों को अपनाने और अवगुणों से बचने का प्रयत्न किया गया है। गार्नर के शब्दों में, “स्विस शासन व्यवस्था अपने आप में एक वर्ग है। यह संसदीय व अध्यक्षात्मक, दोनों प्रकार की शासन व्यवस्थाओं से मूलभूत रूप में भिन्न है, किन्तु इसमें इन दोनों व्यवस्थाओं के लक्षणों का समन्वय है।

(3) उत्तरदायित्व व स्थायित्व का स्वस्थ मिश्रण-

स्विट्जरलैण्ड की संघीय सरकार में उत्तरदायित्व व स्थायित्व का स्वस्थ संयोग है। संघीय सरकार संघीय संसद के निर्देशन और नियन्त्रण में कार्य करती है। लेकिन संघीय संसद संघीय सरकार को पदच्युत नहीं कर सकती और न ही संघीय संसद में अपना प्रस्ताव अस्वीकृत होने पर संघीय सरकार त्याग-पत्र देती है। इस बात को स्पष्ट करते हुए मुनरो ने लिखा है, “संघीय सरकार विधि-निर्माण में पूर्ण सक्रिय रूप से भाग ले, परन्तु यदि उसका सुझाव न माना जाए तो वह इसे अपमान न समझे, ऐसी आशा संघीय सरकार से की जाती है।"

(4) विभिन्न दलों के प्रतिनिधि

स्विट्जरलैण्ड की संघीय सरकार में संघीय संसद में बहुमत प्राप्त राजनीतिक दल के सदस्य ही नहीं चुने जाते, वरन् इसमें विभिन्न दलों का प्रतिनिधित्व होता है। चुनाव के पश्चात् ये सदस्य दलीय आधार पर कार्य नहीं करते, वरन् उनका दृष्टिकोण राष्ट्रीय हित होता है । सदस्यों का चुनाव योग्यता के आधार पर होता है। इस प्रकार संघीय सरकार के सदस्य दलबन्दी की सीमाओं से ऊपर उठकर राष्ट्रीय हित की साधना करते हैं।

(5) सामूहिक उत्तरदायित्व का अभाव

स्विस संघीय सरकार में सामूहिक उत्तरदायित्व का अभाव पाया जाता है। संघीय सरकार के सदस्य अपने-अपने विभागों के प्रति उत्तरदायी होत हैं। अतः सामूहिक उत्तरदायित्व का प्रश्न ही नहीं उठता।

(6) विशेषज्ञों की परिषद-

स्विस संघीय सरकार की एक महत्त्वपूर्ण विशेषता यह है कि उसके मन्त्रिगण अपने विभागों के विशेषज्ञ होते हैं। सदस्यों के पुनर्निर्वाचन पर प्रतिबन्ध न होने के कारण उन्हें लम्बे समय तक राजनीतिक अनुभव और प्रशासनिक योग्यता प्राप्त करने का अवसर मिलता है। स्विट्जरलैण्ड में ऐसे अनेक उदाहरण हैं कि संघीय सरकार के सदस्य 25 से 30 वर्ष तक पदासीन रहे हैं । स्वाभाविक है कि ऐसे सदस्य अपने विभागों के विशेषज्ञ बन जाते हैं। इसी कारण लॉवेल ने कहा है कि स्विट्जरलैण्ड में संघीय सरकार के सदस्य अपने-अपने विभागों के राजनीतिक अध्यक्ष और प्रमुख सचिव, दोनों होते हैं।"

 

Comments